22.12.16

जियो सिम के लिये फड़फड़ाते 2G, 3G एंड्रॉयड

ये भारत देश है साहब, यहां असंभव कुछ भी नहीं होता। भारतीय जितना जुगाड़ लगाते है शायद ही कोई और देश सोच पाता होगा। चूंकि हम पौराणिक लोगों के बीच पायरेसी कुछ भी नहीं है, तो फिर कॉपीराइट का सवाल ही नहीं। जुगाड़ोद्योग का मुकंदीलाल जो भी इजात करता है वो सबके लिये उपलब्ध होता है। जियो का भी तोड़ आयेगा माकूल समय आने दीजिए। अन्य टेलकॉम कंपनी यदि कोई तोड़ नहीं निकालेगा तो जुगाड़ोद्योग से आयेगा। डाटा पेक और मोबाइल मार्केट मौसम के अनुकूल अगाड़ी-पिछाड़ी दौड़ रही है कि अचानक रिलायंस ने 4 जी जियो सिम लॉच कर दिया। टोटल फ्री स्कीम ने सबकी हवा निकाल दी।


आजकल किसी के सोच से आगे की सोच रखने वाले लोगों में एक ही बात की होड़ मची है कि कौन सबसे पहले रिलायंस कंपनी के 4 जी जियो सिम का तोड़ निकालेगा। लोग अक्सर ये सवाल पूछते है कि जियो को 2 जी और 3 जी वाले एंड्रायड मोबाइल में कैसे चलाये? कॉलिंग और एसएमएस पैक से ज्यादा इंटरनेट डाटा हरेक के लिये जरूरी हो गया है। ऐसे में एंड्रॉयड फोन का जियो सिम के लिये तड़प लाजमी है।  
जो लोग नेट चला रहे है वे अपने हैडसेट पर सर्च करते नहीं थकते कि जियो कब से अन्य सभी एंड्रॉयड के लिये उपलब्ध होगा। क्या रिलायंस कोई ऐसा एप लांच करेगा जिससे जियो की पहुंच प्रत्येक हेंडसेट तक हो सके। फ्री कॉलिंग और एसएमएस को छोड़ों नेट डेटा ही मिल जाये तो, जियो जिंदाबाद। अन्य टेलकॉम कंपनी राहत भी तो नहीं दे रहा है। कॉल दरें घटाते है तो नेट पैक में जान निकाल देते है। एसएमएस पैक तो त्योहारों में काम नहीं आते है ऐसे में क्या फायदा। तो क्यो न मोबाइल और सिम बदलकर डिजिटल हो जाये 4G के साथ। 
फ्री की वैधता समाप्त होने के बाद कल जो होगा देखा जायेगा, आज तो फोकट का मिल रहा है। जियो में फायदा देखकर भी जिनको नहीं लेना है वो लाख तर्क देते है, इंटरनेट के सर्च बढ़ाने के नुस्खे, ब्लॉग अथवा वेब के ट्राफिक बढ़ाने का फंडा। यूट्यूब वाले भी ऐसे ही बंडलमार विडियों अपलोड कर फोकट का टाइम कोटा कर रहे है, लाइक करो, कमेंट करो, सबस्क्राइब करो, फिडबैक दो वगैरह-वगैरह। फ्री की वैधता समाप्त होने के बाद सिम ही बदल देंगे और क्या। यहा मेरे और तुम्हारे चकल्लस से कुछ नहीं होने वाला जो भी करेगा रिलायंस कंपनी ही करेंगा। तब तक फड़फड़ाने दो 2G और 3G हैडसेट को।


नोकिया 1100 का
अलग था जमाना
जी भर बातें, 
न बैटरी थके न लाइन कटे।
आया एन 70
नेट के साथ,
गुरूर से लबरेज
कैमरा, विडियों, छैल छबीले।
फिर सेमसंग
एंड्रायड एप 
3 जी का मजा
बटन झंझट नहीं, ऊंगली में नाचे।
अब माइक्रोमेक्स 
ग्रेड पे अपग्रेड
झटपझ अपलोड
4 जी, डिजिटल-डिजिटल रटे।

----------

2 टिप्‍पणियां:

  1. जियो जी भर लेकिन कैसे पता है .. बस जिए जा रहे है खुद में मगन ...
    बहुत अच्छी सामयिक

    उत्तर देंहटाएं
  2. इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

    उत्तर देंहटाएं

POPULAR POSTS